अगर आप टैक्स देते हैंतो 1 अप्रैल से बदलने वाला है टैक्स से जुड़े कुछ नियम

देश दुनिया होम

नई दिल्ली मौजूदा फाइनेंसियल  ईयर खत्म होने वाला है,। और 1 अप्रैल 2018 से नया वित्त वर्ष शुरू होने वाला हैइस बार नया वित्तवर्ष आने के साथ  आपके इनकम टैक्स से जुड़े कुछ नियम बदलने वाली है इन बदलाव को जानना क्योंकि इनका सीधा असर आप पर पड़ने वाला है चलिए देखते हैं कौन-कौन से टैक्स के नियम बदलने वाले है।

1 . LTCG (लॉन्ग टर्म कैपिटल गेन टैक्स)

,अगर आप शेयर बाजार में निवेश करते हैं तो आपके लिए खबर जरूरी है 1 अप्रैल को शेयर बाजार इक्विटी म्यूचुअल फंड में किए गए निवेश पर आपने 1 साल में ₹100000 से ज्यादा का फायदा होता है तो आपको एलटीसी जी यानी लॉन्ग टर्म कैपिटल गेन टैक्स देना होगा हालांकि इसके तहत 1 फरवरी 2018 के बाद से किया गया निवेश शामिल नहीं किया जाएगा और इससे पहले का मुनाफा टैक्स फ्री होगा।

2. स्टैंडर्ड डिडक्शन

1 अप्रैल 2018 से सैलरी क्लास के लोगों को ₹40000 का स्टैंडर्ड डिडक्शन मिलेगा इसके तहत आपकी सैलरी यानी ग्रॉस सैलरी उसे ₹40000 की सीमा को छोड़कर बाकी सैलरी पर टैक्स लगने वाला है।

3.इनकम टैक्स पर शेष की बढ़ोतरी

पेशवे बजट में वित्त मंत्री अरुण जेटली नए इनकम टैक्स पर लगने वाला हेल्थ और एजुकेशन सेस को 3 फ़ीसदी से बढ़ाकर 4 फ़ीसदी तक कर दिया था जिससे 1 अप्रैल से आपकी इनकम टैक्स पर हेल्थ और एजुकेशन टैक्स 1% की बढ़ोतरी के साथ लागू होगा।

4. इलाज पर खर्च के लिए टैक्स छूट बड़ी

मौजूदा समय में 80 DDB के अनुसार 60 साल से ज्यादा उम्र के लोगों को ₹60000 और 80 साल से ज्यादा उम्र के लोगों को ₹80000 की छूट मिलती है जबकि 1 अप्रैल से यह पढ़कर ₹100000 कर दिया गया है।

5. सीनियर सिटीजन स्कोर ज्यादा टैक्स छूट

सीनियर सिटीजन को पोस्ट ऑफिस और बैंक से मिले ₹50000 तक की ब्याज को टैक्स फ्री कर दिया गया है फिलहाल आयकर कानून के तहत किसी व्यक्ति को प्यास से मिले ₹10000 तक की इनकम टैक्स छूट होती है।