चेन्नई में IPL मैच का किया गया विरोध

Uncategorized होम

कावेरी जल विवाद तमिल समर्थकों द्वारा IPL मैच का विरोध किया गया

द्रमुक और अन्य विपक्षी दलों ने प्रदर्शन किया वही तो संगठनों ने यहां होने वाले IPL मैच का विरोध किया है.

कावेरी जल विवाद मुद्दे पर तमिलनाडु में आज चौथे दिन भी आंदोलन जारी रहा द्रमुक और अन्य विपक्षी दलों ने प्रदर्शन किया वही दो संगठनों ने ने यहां होने वाले IPL मैच का विरोध किया इसके साथ ही कथित तौर पर नदी जल बंटवारे से संबंधित विवाद को लेकर जहर खाने वाले एक व्यक्ति की आज मौत हो गई. वही तमिलनाडु में द्रमुक के नेतृत्व में विपक्ष ने बंद का आह्वान किया है इस विभाग से जुड़ी ट्रेड यूनियनों सहित अन्य ने भी समर्थन किया है.

गौरतलब है कि का टोटका स्थित कावेरी नदी से रोजाना 12000 क्यूबिक पानी तमिलनाडु को देने को कहा गया है इसके बाद से कर्नाटका में बंद हो हड़ताल का दौर शुरू हो गया है जगह-जगह झड़प हो रही है नेशनल हाईवे पर आवागमन प्रभावित है जिसके परिणाम स्वरुप राज्य के युवा चाहकर भी अपने राज्य नहीं आ पा रहे हैं क्योंकि एयरपोर्ट बस अड्डे और रेलवे स्टेशन को बंद कर दिया गया है.

कोयंबटूर में विधायक एंड कार्तिक के नेतृत्व में 300 से अधिक द्रमुक कार्यकर्ता को गिरफ्तार कर लिया गया है. जो BSNL कार्यालय के बाहर प्रदर्शन की कोशिश कर रहे थे. तमिल समर्थक संगठन तमि झागा के प्रमुख IPL मैचों के आयोजकों से अपील की है कि वह चेन्नई में मैच ना कराएं. उन्होंने कहा है कि यदि मैच कराए जाते हैं तो तमिल संगठन टिकट खरीद कर स्टेडियम के भीतर लोकतांत्रिक प्रदर्शन करेगी . पुलिस ने बताया है कि सलेम में कथित तौर पर का विधि मुद्दे को लेकर जा रहने वाले 40 वर्षीय व्यक्ति की आज मौत हो गई है प्रभु नाम के तिपहिया चालक ने प्रदर्शन के दौरान कब 2 अप्रैल को चूहे मारने वाली दवा खा ली थी.

कावेरी जल के बंटवारे को लेकर बेंगलुरु बंद एयरपोर्ट पर फंसे हैं यात्री

सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद कर्नाटका हर रोज तमिलनाडु को 15000 क्यूसेक पानी छोड़ रहा है. लेकिन मांड्या से शुरू हुआ विरोध राजधानी बेंगलुरु तक पहुंच चुका है कई कन्नड़ संगठनों की ओर से किए गए पद के ऐलान के बाद बेंगलुरु में जीवन अस्त-व्यस्त पड़ गया है.

सड़कों पर सन्नाटा पसरा हुआ है. बसों के पहियों पर ब्रेक लग गए हैं बंद का असर बेंगलुरु के एयरपोर्ट पर देखा जा सकता है .बताया जा रहा है कि कई यात्री एयरपोर्ट पर फंसे हुए हैं एतिहात के तौर पर स्कूल और कॉलेज बंद है विपक्षी पार्टियां भाजपा और जद ने भी बंद का समर्थन किया है अधिकांश आईटी कंपनियां जैसे इंफोसिस में विप्रो ने भी पद की घोषणा कर दी है और पूरे क्षेत्र पर 25000 जवान बेंगलुरु में तैनात कर दिए गए हैं.

क्या था सुप्रीम कोर्ट का आदेश

सुप्रीम कोर्ट ने कर्नाटका को निर्देश दिया है कि तमिलनाडु के किसानों की दिक्कत दूर करने के लिए वह अगले 10 दिन तमिलनाडु को 15000 क्यूसेक पानी छोड़े इस निर्देश के बाद कावेरी पर विवाद गरमा गया इसके मद्देनजर 9 सितंबर तक कृष्णराज सागर बांध के हिट गीत निषेध लगा दी गई और वहां आगंतुकों के प्रवेश पर रोक लगा दी गई पुलिस ने बताया कि मांड्या में प्रदर्शनकारियों ने अनेक सरकारी दफ्तरों में तोड़फोड़ की और उसके बंद करने के लिए बाध्य कर दिया.

कर्नाटका ने कहा है “नहीं है पर्याप्त पानी”

वहीं कर्नाटक सरकार का कहना है कि उनके पास पीने व खेती करने के लिए पर्याप्त पानी नहीं है राज्य की कांग्रेस सरकार ने शांति की अपील की है.

कर्नाटक के मुख्यमंत्री सिद्धारमैया एक सर्वदलीय बैठक बुलाई थी उनके अनुसार कर्नाटका सरकार के समक्ष पेश आ रही गंभीर कठिनाइयों के बावजूद राज्य सुप्रीम कोर्ट के निर्देश के अनुरूप पानी छोड़ेगा उन्होंने यह भी कहा था कि राज एक नई याचिका के साथ सुप्रीम कोर्ट जाएगा साथ ही कावेरी निगरानी समिति के समक्ष भी जाएगा. वहीं मुख्यमंत्री ने कहा है कि’ संविधान के तहत प्रतिबद्ध राज्य के लिए सुप्रीम कोर्ट को दरकिनार करना या पानी जारी करने से मना करना कठिन होगा’. उन्होंने कहा कि भारी मन के साथ यह निर्णय किया गया है कि तमिलनाडु को पानी दिया जाएगा जबकि हमारे राज्य को खुद गंभीर कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा है.

जल विवाद पर बनेगा कानून

केंद्र सरकार ने विभिन्न राज्यों के बीच बढ़ते जल विवाद को देखते हुए अंतरराज्यीय नदी जल विवाद संशोधन विधेयक को संसद में पेश करेगी इसमें अधिकरणों के अध्यक्षों उपाध्यक्ष की आयु और निर्णय देने की समय सीमा के बारे में कुछ महत्वपूर्ण प्रावधान किए गए हैं. विधायक को जल्दी कैबिनेट में मंजूरी के लिए पेश किया जाएगा.