झारखंड: राजा केंदुआ गांव मैं नाबालिग के साथ गैंगरेप फिर हत्या के मामले मुख्य आरोपी व मुखिया सहित 15 गिरफ्तार

देश दुनिया होम

इटखोरी कांड झारखंड: दुष्कर्म के बाद नाबालिग को जिंदा जलाने का मामला. मुख्य आरोपी व मुख्य सहित 15 गिरफ्तार कई गांव छोड़ भागे.

चतरा झारखंड के चतरा जिला के इटखोरी थाना इलाके राजा केंदुआ गांव में दुष्कर्म के बाद नाबालिग को जलाकर मार डालने की घटना के बाद शनिवार को चतरा के इटखोरी स्थित राजा केंदुआ गांव पुलिस छावनी में तब्दील हो गई। पुलिस ने कुल 20 लोगों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की है मुख्य अभियुक्त गन्नू भै के खिलाफ पॉक्सो एक्ट के तहत भी मामला दर्ज किया गया है शेष अपराधियों पर हत्या मारपीट करने समेत अन्य अन्य धाराएं लगाई गई है।

गांव में मौजूद है आलाधिकारी

घटना की गंभीरता को देखते हुए पुलिस मुख्यालय के निर्देशक पर राजा केंदुआ गांव को पुलिस छावनी में तब्दील कर दिया गया है । इतना ही नहीं गांव में SP अखिलेश भी वारियर, एसडीओ राजीव कुमार, डीएसपी मुख्यालय पीतांबर सिंह खेरवार व एसडीपीओ सिमरिया प्रदीप कश्यप समेत अन्य पुलिस पदाधिकारी व प्रशासनिक अधिकारी मौजूद है। पुलिस अधीक्षक और अनुमंडल अधिकारी गांव में हर संधि को पर खुद नजर रखे हैं। इधर घटना के बाद से सभी आरोपी गांव छोड़कर फरार है।

क्या है पूरा मामला?

जानकारी के मुताबिक गांव के रहने वाले रविदास उर्फ बिट्टू के नाबालिग बेटी गांव के कुछ लोगों ने कथित रूप से गैंगरेप किया। इसके विरोध में जब पंचायत बुलाई गई तो खुद को अपमानित महसूस करते हुए उन दबंगों ने घर में घुसकर दिनदहाड़े पीड़ित को जलाकर कर निर्मम हत्या कर दी। इतने सभी जब दिल नहीं भरा तो दबंगों ने पीड़िता के पिता रविदास व उसकी मां की निर्मम पिटाई भी कर दी घटना की सूचना पाकर गांव पहुंची पुलिस ने युवती का आधा जला शव बरामद किया है।

झारखंड के मुख्यमंत्री रघुवर दास ने इस मामले में कहा

मुख्यमंत्री रघुवर दास ने कहा है, कि समाज में छुपे ऐसे अपराधियों को कठोर सजा मिलनी चाहिए मेरी संवेदना पीड़िता के परिजनों के साथ है । किसी भी कीमत पर अपराधियों को बख्शा नहीं जाएगा । सरकार इस घटना पर अपनी नजर बनाए हुए हैं। पीड़िता के परिजनों को हर संभव सहायता मुहैया कराई जा रही है।