दिल्ली डेयरडेविल्स के कप्तान गौतम गंभीर ने IPL की कप्तानी छोड़ी

Facebook खेल कूद होम

IPL की टीम दिल्ली डेयरडेविल्स के कप्तान गौतम गंभीर ने कप्तानी छोड़ने का फैसला कर लिया है दिल्ली डेयरडेविल्स 6 मैचों में केवल एक मैच जीत पाई थी.

IPL मैच के 11वें सीजन पर दिल्ली डेयरडेविल्स की टीम अपने सारे मैचों में केवल एक ही मैच जीत पाई दिल्ली की टीम लगातार हार से परेशान कप्तान गौतम गंभीर ने बुधवार को अचानक कप्तानी से इस्तीफा देकर सभी को चौंका दिया है. गौतम गंभीर ने पहली बार 11 सीजन में दिल्ली डेयरडेविल्स की कप्तानी संभाली है. इससे पहले गौतम गंभीर ने कोलकाता की टीम की कप्तानी संभाली थी उनकी कप्तानी में कोलकाता की टीम ने दो बार IPL मैचों का खिताब जीता है. अपनी टीम दिल्ली डेयरडेविल्स की कप्तानी छोड़ने के बाद अब मीडिया में यह भी सवाल आ रहे हैं कि गंभीर आईपीएल के आगे के मैच में खेलेंगे या नहीं.

दिल्ली डेयरडेविल्स की टीम अब तक IPL में सिर्फ एक मैच जीत पाई है गौतम गंभीर इससे काफी आहत हुए हैं इस फैसले को सुनाते हुए उन्होंने कहा है कि यह फैसला पूरी तरह मेरा है गंभीर के बाद टीम की कप्तानी का जिम्मा श्रेयस अय्यर को सौंपा गया है.

गौतम गंभीर ने एक इंटरव्यू में कहा कि मैं कप्तानी का दबाव नहीं झेल पा रहा था इसलिए मैंने अपनी कप्तानी छोड़ने का फैसला किया है यह उनका अपना फैसला है इस पर फ्रेंचाइज का कोई दबाव मुझ पर नहीं है मैंने अपने इस फैसले के बारे में अपनी पत्नी से भी बात की थी दिल्ली डेयरडेविल्स की टीम ने गौतम गंभीर की कप्तानी मैं 6 मैच खेले हैं जिनमें उन्हें पांच मैचों में हार मिली है दिल्ली डेयरडेविल्स की टीम IPL के पॉइंट्स में सबसे निचले पायदान पर खड़ी है.

दिल्ली डेयरडेविल्स की टीम ने इस बार गौतम गंभीर को पूरे दो करोड़ में खरीदा था इससे पहले वह कोलकाता नाइट राइडर्स के लिए खेल रहे थे.

गौतम गंभीर आईपीएल मैचों में सबसे सफल कप्तानों के अलावा सबसे कामयाब बल्लेबाजों में गिने जाते हैं लेकिन आईपीएल के सीजन 11 मैं वह खास अपने बल्ले और कप्तानी का जादू चलाने में कामयाब नहीं रहे हैं. उन्होंने अब तक IPL के 154 मैचों में 4217 रन बनाया है इसमें 36 हाफ सेंचुरी है और उनका सर्वश्रेष्ठ स्कोर 93 रन का है.

गौतम गंभीर दिल्ली डेयरडेविल्स की लगातार हार के चलते काफी परेशान थे .पंजाब के खिलाफ दिल्ली की टीम को मिले 4 रन के हार से गौतम गंभीर को काफी परेशान कर दिया था.