दुनिया के महान भौतिक विज्ञानिक स्टीफन हॉकिंस का निधन आइए जानते हैं उनके जीवन के कुछ रोचक पहलू

देश दुनिया विज्ञानं होम

एक दुर्लभ बीमारी से ग्रसित होने के बाद भी प्रसिद्ध भौतिक विज्ञानी की स्टीफन हॉकिंग 75 साल की उम्र में इस दुनिया को अलविदा कह दिया उन्होंने बुधवार को ब्रिटेन के कैंब्रिज स्थित अपने घर पर ही अंतिम सांसे ली । स्टीफन ने विज्ञान के क्षेत्र में बढ़े शोध किए और कई भविष्यवाणियां भी की उन्होंने अंतरिक्ष से जुड़े ब्लैक होल और बिग बैंग थ्योरी पर भी काम किया।

स्टीफन हॉकिंग का जन्म 8 जनवरी 1942 में इंग्लैंड के ऑक्सफोर्ड  सेकंड वर्ल्ड वॉर के समय हुआ था ।हैरानी की बात यह है कि गैलेलियो की मौत के बाद ठीक 300 साल बाद ही हॉकिंग का जन्म हुआ है साल 1988 में उन्हें सबसे ज्यादा सौरभ तब मिली जब उनकी पहली किताब ए ब्रीफ हिस्ट्री ऑफ टाइम फ्रॉम द बिग बैंग टू ब्लैक होल्स बाजार में पेस हुई।

स्टीफन हॉकिंग ने ब्लॉकहॉल और बिग बैंग थ्योरी के सिद्धांत को समझने के लिए अहम योगदान दिया है उनके पास 12 डिग्रियां और अमेरिका का सबसे उच्च नागरिक सम्मान प्राप्त है। वह पूरी दुनिया में एक भौतिक विज्ञानी और कॉस्मोलॉजी स्ट के तौर पर जाने जाते हैं।

साल 1963 में स्टीफन हॉकिंग जॉब केवल 21 साल के थे तब उन्हें Amyotrophic Lateral Sclerosis (ALS) नाम की दुर्लभ बीमारी हो गई इस बीमारी के चलते उनके शरीर का ज्यादातर लगभग 90% अंक शिथिल पड़ते गए। हैरानी की बात यह है कि इस बीमारी से ग्रसित लोग ज्यादातर 2 से 5 साल फिजी पाते हैं लेकिन वह इस बीमारी के साथ दशकों तक जीवित रहे।

उनकी कॉस्मोलॉजी प्रकाशित किताब बहुत ही चर्चित हुई और इस पुस्तक की एक करोड़ कोपियां बाजार में बिकी, इसे दुनिया भर में साइंस की सबसे ज्यादा बिकने वाली किताबों में गिना जाता है। हालांकि स्टीफन हॉकिंस को दुर्लभ बीमारी थी लेकिन फिर भी वह व्हीलचेयर की मदद से मुंह कर पाते थे इस बीमारी के साथ इतने लंबे अरसे तक जिंदा रहने वाले स्टीफन हॉकिंग पहले शख्स थे।

साल 2014 में स्टीफन हॉकिंग की प्रेरक जिंदगी पर आधारित फिल्म” द थ्योरी ऑफ एवरीथिंग”रिलीज हुई। प्रोफेसर स्टीफन हॉकिंग्स ने साल 1965 में प्रॉपर्टीज ऑफ X पेंडिंग यूनिवर्स विषय पर अपनी पीएचडी पूरी की थी उन्होंने पृथ्वी के अंत को लेकर भी कई भविष्यवाणी की थी उन्होंने कहा था कि धरती पर हम आने वाले कुछ हजार सालों से भी कम समय तक जिंदा रह पाएंगे।

वह कैसे कई लोगों के लिए मिसाल हैजो आसक्त होते हुए भी होने  पर भीदुनिया दुनिया को बहुत कुछ दिया है उनके द्वारा किए गए काम मानव सभ्यता के लिए हमेशा याद किया जाएगा।