निदाहास ट्रॉफी- बांग्लादेश -श्रीलंका मैच अंपायर ने नही दिया नो बॉल, साकिब भिड़े अंपायर से

खेल कूद होम

कोलंबो के आर प्रेमदासा स्टेडियम में बैठे हजारों दर्शक उस वक्त हैरान हो गए जब यहां खेले जाने वाले एक ट्रॉफी के छठे मुकाबले के आखिरी ओवर में बांग्लादेश के कप्तान शाकिब अल हसन अचानक अपने खिलाड़ियों को वापस पैविलियन बुलाने लगे यही न इस दौरान बांग्लादेशी और श्रीलंकाई क्रिकेटर के बीच गर्मागर्मी बहस हुई लगभग 5 मिनट तक चलने वाले इस विवाद को खत्म किया पूर्व बांग्लादेशी क्रिकेटर खालिद महमूद ने उनके समझाने के बाद साकिब ने अपने खिलाड़ियों को खेलने के लिए भेजा अगर बांग्लादेशी बल्लेबाज बैटिंग के लिए नहीं आती तो टीम को टूर्नामेंट डिस क्वालीफाई कर दिया जाता है और श्रीलंका फाइनल में होता।

क्या है मामला?

छक्का लगाकर बांग्लादेश को जीत दिलाने वाले मोहम्मद उल्लाह ने मैच के बाद बताया कि आखरी ओवर की शुरुआत दोनों गेंद कंधे से ऊपर थी ऑल फील्ड अंपायर ने नो बॉल नहीं दिया इसी की वजह से हम ने विरोध जताया।

बांग्लादेश के जीत के बाद अब यह फाइनल में भारत के साथ भिड़ेगी । मोहम्मद उल्लाह ने आखरी 3 गेंदों में टीम बांग्लादेश को जीत दिला कर उसे फाइनल में पहुंचा दिया।

मैच खत्म होने के बाद भी दोनों देशों के खिलाडी एक दूसरे से बहस करते दिखे बांग्लादेशी क्रिकेटर ने काफी देर तक मैदान पर जश्न के तौर पर नागिन डांस भी किया हालांकि जीत के बाद शाकिब अल हसन और महमूदुल्लाह अपने खिलाड़ियों को समझते दिखे लेकिन ICC बांग्लादेश की टीम और उसके कप्तान इस हरकत को नजरअंदाज करें यह कहना मुश्किल ही  मैच रेफरी क्रिस बॉन्ड और फील्ड अंपायर रुचिरा और रविंदर विमालसिरी इस मामले पर एक्शन ले सकते हैं।