लालू को 14 साल की सजा और 60लाख रुपए जुर्माना

देश दुनिया होम

लालू को 14 साल की सजा और 7 लाख जुर्माना दोषी की 1990 के बाद घोटाले से अर्जित संपत्ति होगी जबत।

रांची बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री युवा राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद को अब तक की सबसे बड़ी सजा सुनाई गई है अदालत ने लालू को अलग-अलग दो धाराओं IPC और पीसी एक्ट में 7- 7 साल सश्रम केद की सजा सुनाई है दोनों सजाएं अलग-अलग चलेगी यानी अदालत ने लालू प्रसाद को कुल 14 साल की सश्रम कैद की सजा दी है इसके अलावा ₹700000 का जुर्माना भी लगाया है जुर्माना नहीं देने पर उन्हें 2 साल अतिरिक्त सजा भुगतनी होगी।

अपने 165 पेज के आदेश में विशेष न्यायाधीश ने कहा है कि इस मामले में लालू सहित जिन 19 लोगों को सजा सुनाई गई है उनको 1 जनवरी 1990 के बाद से घोटाले से अर्जित चल अचल संपत्ति जप्त कर उसे नीलामी किया जाएगा ट्रायल के दौरान जिन 14 लोगों की मौत हो गई उनकी भी घोटाले से अर्जित संपत्ति जप्त कर नीलामी की जाए इससे मिली राशि को सरकारी खजाने में डाली जाएगी अदालत ने सीबीआई को निर्देश दिया कि वह इनकी संपत्ति की जांच करने की सूचना प्रवर्तन निदेशालय ईडी को दें और साथ में ईडी की मदद भी करें।

ऐसे समझे लालू की सजा
  • लालू प्रसाद को IPC एक्ट की धारा 420 के तहत आपराधिक साजिश ,409 के तहत सरकारी राशि का गबन ,467 के तहत फर्जीवाड़ा ,471, 47A के तहत गलत तरीके से लेखा तैयार करना, और 120 बी साजिश के तहत 7 साल श्रम कारावास 30 लाख दंड। दंड नहीं देने पर 1 साल अतिरिक्त सजा।

प्रोबेशन ऑफ करप्शन एक्ट 120 बी 13(2 ), 13(1 ) CD के तहत 7 साल की सजा और 30 लाख का जुर्माना.।