सनराइजर्स हैदराबाद IPL T20 मैच में केकेआर को रोमांचक मुकाबले में हराया

खेल कूद

अफगानिस्तान “वंडर बॉय” के नाम से प्रसिद्ध राशिद खान के शानदार गेंदबाजी और बल्लेबाजी की बदौलत सनराइजर्स हैदराबाद ने केकेआर को रोमांचक मुकाबले में हराया।

अफगानिस्तान के गेंदबाज राशिद खान जिन्हें आजकल “वंडर बॉय” के नाम से भी जाना जाने लगा है। राशिद खान के ऑलराउंडर प्रदर्शन के दम पर सनराइजर्स हैदराबाद ने दूसरे क्वालीफायर मुकाबले में शुक्रवार को कोलकाता नाइट राइडर्स के साथ हुए रोमांचक मैच में अपनी जगह फाइनल मैच में पक्की कर ली।

फाइनल के मुकाबले में सनराइजर्स हैदराबाद का मुकाबला अब रविवार को चेन्नई सुपर किंग के साथ होगा।  शुक्रवार को खेलेंगे IPL T20 मैच सनराइजर्स हैदराबाद ने पहले बैटिंग करते हुए केकेआर के सामने 175 रनों का लक्ष्य रखा । वही लक्ष्य का पीछा करने उतरी कोलकाता नाइट राइडर्स की टीम 161 रन पर 9 विकेट ही बना सकी और सनराइजर्स हैदराबाद में 14 रनों की जीत हासिल की। रविवार को खेले जाने वाले IPL T20 के फाइनल में सनराइजर्स हैदराबाद Chennai Super Kings के साथ भिड़ेगी।

राशिद खान का ऑलराउंडर प्रदर्शन

राशिद खान सनराइजर्स हैदराबाद के लिए ट्रंप कार्ड साबित हुए उन्होंने पहले बल्लेबाजी मैं 10 गेंदों में 34 रन बनाएं और गेंदबाजी में 19 रन देकर महत्वपूर्ण 3 विकेट लिए। उनके शानदार प्रदर्शन के लिए उन्हें इस मैच में मैन ऑफ द मैच भी मिला।

लक्ष्य का पीछा करने उतरी केकेआर की टीम शुरुआती से ही आक्रमक बल्लेबाजी करने को उत्तरी ।केकेआर के ओपनर बैट्समैन सुनील नारायण ने जबरदस्त बैटिंग करते हुए 10 रनों से भी अधिक औसत से प्रति ओवर रन बनाएं खतरनाक होती हुई इस साझेदारी को सिद्धार्थ कौल ने चौथे ओवर में तोड़ा जब सुनील नारायण 13 गेंदों में 26 रन बनाकर कार्लोस ब्रेथवेट के हाथों लपक लिए गए।

कोलकाता नाइट राइडर्स की तरफ से क्रिस लिन ने सबसे ज्यादा रन बनाएं और वह 48 रन की पारी बनाकर आउट हो गए। केकेआर की तरफ से क्रिस लिन 48 रन ,सुनील नारायण ने 26, नितीश राणा ने 22 और शुभम गिल ने 30 रन बनाए। लेकिन इसके बावजूद टीम को जीत हासिल नहीं हो सकी।

रविवार को होने वाला है IPL T20 सीजन 11 का फाइनल मैच

फाइनल में अपनी जगह बनाने वाली दोनों टीमें सनराइजर्स हैदराबाद और Chennai Super King टीमों की तुलना की जाए, तो Chennai Super Kings के खिलाड़ियों में एकजुटता प्रदर्शन अच्छा रहा है।

ऐसा लग रहा है कि टीम वर्क का मंत्र IPL के इस सीजन में बखूबी काम कर रहा है । इस बात में कोई हैरानी नहीं है ,कि Chennai Super Kings ने जिन्नो सीजन में हिस्सा लिया उसमें से उन्होंने 7 बार फाइनल में जगह बनाई है । उनकी जीत का फॉर्मूला एकदम साफ है। कुछ खिलाड़ियों पर निर्भर होने के बजाय एक इकाई के रूप में प्रदर्शन करें । मेरे हिसाब से सनराइज के मुकाबले Chennai Super King में एकजुटता प्रदर्शन बेहतर रहा है। Chennai Super Kings की टीम में संतुलन और ऑलराउंडरों की ताकत के नजरिए से चेन्नई और कोलकाता इस सीजन की सर्वश्रेष्ठ टीम रही है । T20 ऐसा प्रारूप है जहां गलती की गुंजाइश बहुत कम होती है यही वजह है कि जब एक या दो खिलाड़ी मौका आने पर प्रदर्शन करने में नाकाम रहे तो खुश टीमों को मुश्किल हालात का सामना करना पड़ता है।

महेंद्र सिंह धोनी ने खिलाड़ी को यह विश्वास दिलाया है, कि एकजुटता होकर खेलने और प्रदर्शन करने से बेहतर कुछ नहीं यह भरोसा जगाने के लिए धोनी की जितनी तारीफ की जाए कम है चेन्नई के खुशनुमा माहौल में हर खिलाड़ी अपनी भूमिका और जिम्मेदारी जानता है लेकिन IPL जैसे बेहद दबाव वाले टूर्नामेंट में सिर्फ कुछ खिलाड़ी के योगदान के दम पर किताब हासिल नहीं किया जा सकता।

अब देखना यह है कि रविवार को खेले जाने वाले फाइनल मुकाबले में जीत किसकी होती है जहां एक तरफ Chennai Super Kings की एकजुटता का प्रदर्शन करती है वही सनराइजर्स हैदराबाद भी अपने बेहतरीन गेंदबाजों के साथ उतरेगी रविवार को खेले जाने वाले IPL T20 मैच का फाइनल मुकाबला रोमांचक पूर्ण होने वाला है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *