सुनील छेत्री ने की लियोनेल मेसी की बराबरी लेकिन फिर भी उनकी आय मेसी से 300 गुना कम है

खेल कूद

सुनील छेत्री ने 102 मैच खेलकर कुल 64 गोल किए वही लियोनेल मेस्सी ने 124 मैच खेलकर 64 गोल किए हैं लेकिन इसके बावजूद सुनील छेत्री की आए उन से 300 गुना कम है.

भारतीय फुटबाल टीम के कप्तान और करिश्माई खिलाड़ी सुनील छेत्री ने रविवार को इंटरकॉन्टिनेंटल कप के फाइनल में कीनिया के खिलाफ दो गोल कर अर्जेंटीना के दिग्गज फुटबॉलर लियोनल मेसी के 64 गोल की बराबरी कर ली है.

खिताबी मुकाबले में दोनों गोल पहले हाफ में ही हुए और इस तरह भारत ने कीनिया को 2-0 से हराया और कॉन्टिनेंटल फुटबॉल कप में जीत हासिल कर ली।

छतरी और मेसी अंतरराष्ट्रीय फुटबॉल में सक्रिय खिलाड़ी में सबसे ज्यादा गोल करने के मामले में संयुक्त रुप से दूसरे स्थान पर हैं सक्रिय फुटबॉलर में सबसे ज्यादा गोल पुर्तगाल के सुपर स्टार खिलाड़ी क्रिस्टियानो रोनाल्डो के नाम दर्ज है जिन्होंने 150 अंतर्राष्ट्रीय मैचों में 81 गोल किए हैं।

सऊदी गोल करने वाले खिलाड़ी की सूची में यह दोनों खिलाड़ी हालांकि 21 व्या स्थान पर है। इन से अधिक गोल करने वालों में आइवरी कोस्टा रिका दीदी यार क नाम है जिन्होंने कुल 104 मैचों में 65 गोल दागे हैं।

सुनील छेत्री के अलावा सिर्फ बाइचुंग भूटिया ही भारत के लिए 100 से अधिक अंतरराष्ट्रीय मैच खेल चुके हैं। 33 साल के सुनील छेत्री के तीन गोल की मदद से ही भारत ने इंटरकॉन्टिनेंटल कप में चीन को 5-0 की करारी शिकस्त दी थी।

सुनील छेत्री ने अपने फुटबॉल कैरियर की शुरुआत शौक के तौर पर खेलना शुरू किया था। प्रोफेशनल कैरियर की शुरुआत साल 2002 में उन्होंने 17 साल की उम्र में मोहन बागान के लिए खेला।

लियोनेल मेस्सी और सुनील छेत्री दोनों कितना कमाते हैं?

हालांकि सुनील छेत्री ने 102 मैच खेल कर 64 गोल दागकर लियोनेल मेसी के बराबरी कर ली है लेकिन इसके बावजूद दोनों के आय पर जमीन आसमान का फर्क है।

फोबोस में छपी एक आर्टिकल के अनुसार लियोनेल मेस्सी मैच से जीती हुई रकम लगभग 84 मिलियन डॉलर है। उन्हें इंडोर्समेंट आदि से लगभग 27 मिलियन डॉलर की आय होती है। तो देखें तो उन्हें कुल 111 मिलियन डॉलर की कमाई 1 साल में होती है। अगर भारतीय रुपयों में इसे बदला जाए तो वह लगभग 7 अरब रुपए कि कमाई करते हैं।

वही सुनील छेत्री की कमाई की बात की जाए तो वह साल में कुल 1.5 करोड़ रुपए कमाते हैं। जो काफी कम है। इस तरह से जरूरत है कि वह फुटबॉल आदि खेलों में भी खिलाड़ियों को अच्छी रकम मिलनी चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *