स्लीप पैरालिसिस: क्या रात को सोते वक्त, अचानक आंखें खुलने से आपने महसूस किया है कि कोई आपके ऊपर भूत-प्रेत बैठा है?

रहस्यमय तथ्य

‘आप में से कई लोगों ने यह महसूस किया होगा, रात के वक्त जब अचानक आपकी आंखें खुल जाती है। परंतु आप चाहकर भी उठ नहीं पाते, और आपको लगने लगता है कि कोई भूत प्रेत आप के छाती पर बैठा हो’

वैज्ञानिकों द्वारा किए गए शोध के अनुसार दुनिया में हर चौथे व्यक्ति को रात में सोते हुए ,इस तरह का अनुभव होता है कि कोई भूत प्रेत उनकी छाती पर बैठा हो। चाह कर भी वह व्यक्ति ना अपने हाथ पैर हिला पाता है, ना ही इस अवस्था में उठ कर बैठ पाता है।

वैज्ञानिकों द्वारा इस तरह की अवस्था को ‘स्लीप पैरालिसिस’ का नाम दिया गया है।

अगर हम लोग भारतीय दंत कथाएं और इनसे जुड़ी कथाओं के बारे में बात करें तो, इससे जुड़ी कई कथाएं आपको सुनने में मिल जाएगी। बचपन में मैंने भी ऐसी कई कथा है इनसे जुड़ी हुई सुनी है जिनमें से एक मैं आपको बताना चाहता हूं। हालांकि कि मुझे अब इसके विज्ञानिक कारणों का पता चल गया है नहीं तो मैं भी इन कथाओं को सच ही मानता था।

बचपन में जब भी मैं कभी इस तरह की अवस्था से गुजरता था, तब मेरे घर में रहने वाले मेरे दादा, नानी या घर का कोई बुजुर्ग कई तरह की कथाएं सुनाएं करते थे। उनका मानना था की जरूर बच्चे पर किसी बुरी आत्मा का साया पड़ा है, जिस कारण यह रात में सो नहीं पाता है और डर के उस जाता है।

खैर यह तो रही पुरानी दादी नानी के किस्से, लेकिन आज हम लोग इसके विज्ञानिक कारण के बारे में जानेंगे। विज्ञानिक से एक बीमारी की तरह देखते हैं, इस तरह की बीमारी को ‘स्लीपिंग पैरालिसिस’ भी कहते हैं। यह बीमारी जानलेवा तो नहीं होती, परंतु इसके कारण आप अन्य कई बीमारियों से ग्रसित हो जाते हैं।

क्या है स्लीप पैरालिसिस?

स्लीप पैरालिसिस के बारे में विज्ञानिक बताते हैं। यह एक ऐसी अवस्था है जब नींद में दिमाग जागृत अवस्था में रहता है। लेकिन हमारे शरीर सोती रह जाती है। इस अवस्था में आप जब हिलने या फिर उठने की कोशिश करते हैं तब ऐसा लगता है कि कोई चीज आपको ऐसा करने से रोक रही है। आपको लगता है कि कोई भूत या प्रेत ऐसा कर रहा है। स्लीप पैरालिसिस एक ऐसी अवस्था है जब कोई नींद से उठता है और देखता है कि उसका पूरा शरीर लकवा ग्रस्त हो गया है। ऐसे में वह अपने शरीर के किसी भी अंग को हिला डूला नहीं पाता, देखा जाता है कि ऐसा ज्यादातर उन लोगों के साथ होता है जो नींदरा रोग से ग्रस्त होते हैं। रात में जागी और सोए अवस्था के बीच होने वाले क्रम को स्लीप पैरालिसिस कहते हैं, जब शरीर दिमाग की बात सुनने से इनकार कर देता है और जड़ हो जाता है।

वहीं स्लीप पैरालिसिस के शिकार बहुत से लोगों ने यह भी दावा किया है कि नींद खुलते ही उन्हें ऐसा लगता है कि उनके सीने पर कोई बहुत ही डरावनी सूरत वाला हैवान बैठा हुआ था। ऐसा दरअसल नींद में सुन हुए दिमाग के कारण होता है। एशियाई कुछ देशों में तो जैसे कि चीन में ‘गूई’ यानी प्रेत आत्माओं का हमला भी कहते हैं। वे मानते हैं कि प्रेत आत्मा है वास्तव में उनके पास आती है और उनकी छाती में बैठकर उन्हें लकवा ग्रस्त कर देती है।

वही वैज्ञानिक दावा करते हैं कि ऐसा ज्यादातर उन लोगों में देखा जाता है जो अपनी छाती पर हाथ रख कर सोते हैं। अगर इस तरह के परिणाम आपके साथ अक्सर और ज्यादा होता है तो हमारा परामर्श यही होगा कि एक बार आप अपने डॉक्टर से जरूर मिलें। क्योंकि बाद में अन्य बीमारियों को भी आमंत्रित करता है। अगर आप इस तरह की बीमारी से ग्रसित है तो कोशिश करें कि पीठ के बल सोए, स्लीप पैरालिसिस से आपको काफी आराम मिलेगा।

5 thoughts on “स्लीप पैरालिसिस: क्या रात को सोते वक्त, अचानक आंखें खुलने से आपने महसूस किया है कि कोई आपके ऊपर भूत-प्रेत बैठा है?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *